150+ Best Collection Of Romantic Shayari In Hindi For Lovers

चले जो कदम कदम तू साथ मेरे तो तेरे साथ से प्यार हो जाए, थामे जो प्यार से तू हाथ मेरा तो अपने हाथ से प्यार हो जाए, जिस रात आए खवाबों मे तू उस सुहानी रात से प्यार हो जाए, जिस बात मे आए जीकर तेरा तो उसी बात से प्यार हो जाए, जो पुकारे तू प्यार से नाम मेरा तो अपने ही नाम से प्यार हो जाए, होता है इतना खूबसूरत ये प्यार अगर तो खुदा करे तुझे भी मेरे प्यार से प्यार हो जाए. 

तेरे लबों पर मुस्कराहट का साज़ अच्छा हैं.. शायद इन आँखों में मेरी तस्वीर का आगाज़ अच्छा है  रुखसार पर लाली बिखरी हुई यूँ हया से.. शायद मेरे सवाल का जवाब अच्छा हैं.  तेरे गेसुओ से सुलझने को एक उम्र बाकी हैं.. शायद मेरे उलझने का ये जाल अच्छा हैं.  लफ्ज़ होठों से निकलते हैं मीठे राग की तरह.. शायद मेरे बहकने का ये साज़ अच्छा हैं.  मचाता हैं शोर मेरी तबियत का अब ज़माना.. शायद इस रोग का इलाज अच्छा हैं 

अपनी ज़ुल्फ़ों को सितारों के हवाले कर दो शहर-ए-गुल बादागुसारों के हवाले कर दो    तल्ख़ि-ए-होश हो या मस्ती-ए-इदराक-ए-जुनूँ आज हर चीज़ बहारों के हवाले कर दो    मुझ को यारो न करो रहनुमाओं के सुपुर्द मुझ को तुम रहगुज़ारों के हवाले कर दो    जागने वालों का तूफ़ाँ से कर दो रिश्ता सोने वालों को किनारों के हवाले कर दो    मेरी तौबा का बजा है यही एजाज़ ‘अवि’ मेरा साग़र मेरे यारों के हवाले कर दो 

केसे कहों मैं के अपना बना लो मुझे, बाहों मे अपनी तुम सामा लो मुझे,बिन तुम्हारे एक पल भी अब कट-ता नही मेरा, बस अब तुम आ कर मुझ ही से चुरा लो मुझे, ज़िंदगी तो वो है संग तुम्हारे जो गुज़रे, दुनिया के गमों से अब तो चुरा लो मुझे,    मेरी सब से गहरी खुवहिश हो जाए पूरी, तुम अगर आज पास अपने बुला लो मुझे, ये काएसा नशा है जो बहका रहा है मुझे, अगर तुम्हारे हैं हम तो संभलो मुझे, नज़ाने फिर केसे गुज़रे गी अपनी ये ज़िंदगानी, अगर अपने दिल से कभी तुम जो निकालो मुझे . 

चुपके से “चाँद की रोशनी” छू जाए आपको, धीरे से “यह हवा” कुछ कह जाए आपको, दिल से जो चाहते हो माँग लो खुदा से हम “दुआ” करते हैं मिल जाए वो आपको 

एक सपने की तरह तुझे सज़ा के रखूं, चाँदनी रात की नज़रों से छूपा के रखूं.. मेरी तक़दीर में तुम्हारा साथ नही, वरना सारी उमर तुझे अपना बना के रखूं …..!! 

एक सपने की तरह तुझे सज़ा के रखूं, चाँदनी रात की नज़रों से छूपा के रखूं.. मेरी तक़दीर में तुम्हारा साथ नही, वरना सारी उमर तुझे अपना बना के रखूं …..!! 

खूबसूरत सा कोई पल एक किस्सा बनजता है, ना जाने कब कोई ज़िंदगी का हिस्सा बन जाता है, ज़िंदगी मैं कुछ लोग ऐसे भी मिलते है, जिनसे कभी ना टूटने वाला रिश्ता बनजता है… 

मेरी खामोशी मेरी आदत है, इन दूरियों में भी मेरी चाहत है, मेरी ज़िंदगी अगर खूबसूरत है, तो उसकी वजह आपकी मुस्कुराहट है …! 

माँगा था रब से तुज़े अब ज़िद भी करेंगे, खुद से लड़ते हे अब तो रब से भी लड़ेंगे, तुम्हारी कसम मेरे सनम अब हिम्मत नही हारेंगे, मर जाएगे पर तेरे सिवा किसी को नही चाहेंगे. 

चाँद को हर एक साक्ष् चाहता हे ये आम बात हे, मगर चाँद किसको चाहता हे ये ख़ास बात हे, ज़िंदगी मे जीने के लिए क्या ज़रूरी हे ये आम बात हे, मगर जी रहे हो किसके लिए ये ख़ास बात हे. 

परवाह कर उसकी जो तेरी परवाह करे, ज़िंदगी में जो कभी ना तन्हा करे, जान बन के उतार जाएगा उसकी रूह में, जो जान से भी ज़्यादा तुझसे वफ़ा करे. 

अब  छोटी छोटी बातों में, हम हस्ते थे , रोते थे , तब से तुमसे प्यार किया जब बिन मौसम बरसातो में, हम झूम झूम के गाते थे , तब से तुमसे प्यार किया जब चुप चुप के आधी रातों में, च्चत पे तारे गिनते थे , तब से तुमसे प्यार किया अब तो खुद भी भूल चुका हू, की काब्से तुमसे प्यार किया, बस इतना हे कह सकता हू, की सिर्फ़ तुमसे, तुम्ही से प्यार किया .. 

कोई नज़र भी उठाए तेरी तरफ तो दिल धड़क जाता है…”?” ना जाने क्यूँ ऐसा लगता है के कोई चीन कर ले जाएगा तुझे मुझ से..!! 

काश आपकी सूरत इतनी प्यारी ना होती, काश आपसे मुलाकात हमारी ना होती, सपनो में ही देख लेते हम आपको, तो आज मिलनी की इतनी बेकरारी ना होती   

गुलाब की महक भी फीकी लगती है, कौन सी खुश्बू मुज़मे बसा गयी हो तुम, ज़िंदगी है क्या तेरी चहत के सिवा, यह केसा ख्वाब आँखो को दिखा गयी हो तुम   

जन्नत मैं रहने वाली परी हो तुम मेरी जान,मेरी ज़िंदिगानी हो तुम यारो मैं बैठा कर जो सुना तय हैं मेरी जान वो कहानी हो तुम   

आँखों में ना हुमको ढूँड़ो सनम दिल में हम बस जाएँगे! तमन्ना है अगर मिलने की तो.. बंद आँखों में भी हम नज़र आएँगे! 

आज कितने दीनो बाद हुई यह बरसात है याद दिलाती यह आपकी हर बात है मुझे मालूम है आपकी आँखों में है नींद आप चैन से सो जाओ कितनी हसीन रात है   

आज कितने दीनो बाद हुई यह बरसात है याद दिलाती यह आपकी हर बात है मुझे मालूम है आपकी आँखों में है नींद आप चैन से सो जाओ कितनी हसीन रात है   

दिल धड़कता है तुझे देखूं तो, साँस भी मेरी रुकने लगती है   प्यार इतना है मेरे दिलमे सनम, रूह भी मेरी खींच ने लगती है  ! चैन मिलता है जब मे देखूं तुझे, वरना या साँस रुकने लगती है  !!! 

दिल धड़कता है तुझे देखूं तो, साँस भी मेरी रुकने लगती है   प्यार इतना है मेरे दिलमे सनम, रूह भी मेरी खींच ने लगती है  ! चैन मिलता है जब मे देखूं तुझे, वरना या साँस रुकने लगती है  !!! 

हसरत है सिर्फ़ तुम्हे पाने की, और कोई ख्वाइश नही इस देवने की, शिकवा मुझे तुमसे नही खुदा से है, क्या ज़रूरत थी तुम्हे इतना खुबसूरत बनाने की..? 

हर बार दिल से ये पैगाम आए, जूबा खोलू तो लब पर तेरा नाम आए. तुम हे क्यू पसंद आए मेरे दिल को क्या मालूम, जब नज़रो के सामने हसीन तमाम आए. 

फूल खिलते है बहारों का समा होता है, ऐसे मौसम में ही तो प्यार जवान होता है, दिल की बातों को होठों से नही कहते, यह फसाना तो निगाहों से बयान होता है. .. 

तेरी आँखों से काश कोई इशारा तो होता कुछ ही सही एक जीने का सहारा तो होता तोड़ देते दुनिया की हदों को हम इक बार तूने मोहब्बत से पुकारा तो होता   

अगर ज़िंदगी मे जुदाई ना होती तो कभी किसी की याद आई ना होती साथ ही गुज़रता हर लम्हा तो शायद रिश्तों मे यह गहराई ना होती.. 

ये हवा आपकी हँसी की खबर देती है, मेरे दिल को ख़ुसी से भर देती है, खुदा सलामत रखे आपकी हँसी को, क्यू की आपकी खुशी हमें ज़िंदगी देती है   

लाबो पे गीत तो आँखो मे ख्वाब रखते थे.. कभी किताबो मे हम भी गुलाब रखते थे .. कभी किसी का जो होता था इंतेज़ार हमे.. बड़ा ही शाम ओ सहर का हिसाब रखते थे   

दुवावो की भीड़ में एक दुआ हमारी जिस में माँगी है हमने हर खुशी तुम्हारी जब भी आप मुस्कुराए दिल से समझो दुआ कबूल हुई हमारी 

तू फूल है बहारों की, तू चाँद है नज़रों की, तेरी क्या तारीफ करूँ, तू तो जान है मेरे दिल की. 

ख्वाबों में आते हो तुम यादों में आते हो तुम जहाँ में जौ जहाँ में देखु मुझे नज़र आते हो तुम 

रोम-रोम मे हमारे वो बसे है, नज़रे हमारी और चहरा उनका है, हर साँस मे हमारी वो बसे है, धड़कने हमारी और दिल उनका है. 

देखी जो सूरत आपकी ये दिल बेचारा मचल गया रखना हिफ़ाज़त से अपनी अदा को अदा पे आपकी ये दिल घायल हो गया 

एक प्यारी सी कली थी जो फूल बन गयी एक नन्ही सी मुस्कान थी जो हसी बन गयी ये छोटी छोटी सी मुलाकात अब तो प्यार बन गयी और आपका हर पल साथ तो जैसे बहार बन गयी . 

हर इनायत हर खुशी आपकी हो, महक उठे वो महफ़िल जिसमे हँसी आपकी हो, कोई भी लम्हा आप उदास ना हो, खुदा करे ज़न्नत जैसी ज़िंदगी आपकी हो. 

बनके अजनबी मिले थे ज़िंदगी के सफ़र में, इन यादों के लम्हों को मिटाएँगे नही, अगर याद रखना फ़ितरत है आपकी, तो वादा है हम भी आपको भुलाएँगे नही. 

मुझे किसी से मुहब्बत नही सिवा तेरे मुझे किसी की ज़रूरत नही सिवा तेरे  .! मेरी नज़र को थी तलाश जिसकी बरसो से किसी के पास वो सूरत नही सिवा तेरे ! जो मेरे दिल, मेरी ज़िंदगी से खेल सके किसी को इतनी इजाज़त नही सिवा तेरे    ..!! 

आप खुद नही जानती आप कितनी प्यारी हो जान तो हमारी पर जान से प्यारी हो दूरियों क होने से कोई फ़र्क नही पड़ता आप कल भी हमारी थी आज भी हमारी हो  !! 

साथ अगर दोगे मुस्कराएँगे ज़रूर, प्यार अगर दिल से करोगे तो निभाएँगे ज़रूर, राह मे कितने काँटे क्यू ना हो , आवाज़ अगर दिल से दोगे तो आएँगे ज़रूर   

कोई पल ऐसा नही जिसमे आपकी याद ना आए, कोई दिन ऐसा नही जिसमे हम आपको ना बुलाएँ, वो हमारा सबसे अच्छा दिन होगा, जिसमे आप हमसे मिलने को आए. 

और कुछ ना होगा मुस्कुराने से दो पल को तबीयत बहाल जाएगी तुम बैठो पहलू मे आ के मेरे मौसम की रंगत बदल जाएगी. 

जानते हो फिर भी अंजान बनते हो, इस तरहा हमें परेशान करते हो, पूछते हो तुम्हे क्या पसंद है, जवाब खुद हो फिर भी सवाल करते हो…? 

यादों की नज़रें तुम पे हैं, फूलों की महेक तुमसे हैं, चाहत की साँस तेरे लिए, हरपल की शायरी भी तेरे लिए, 

मेरी हर एक धड़कन आप के लिए है मेरी हर एक मुस्कुराहट आप के लिए है आप के अदा मेरे दिलको चुराने के लिए है अब तो मेरी ये ज़िंदगी भी आप के लिए है 

मुस्कान बन जाता है कोई, दिल की धड़कन बन जाता है कोई, कैसे जिए एक पल भी उन के बिन, जब ज़िंदगी जीने की वजह बन जाता है कोई.   

वो हसना, वो खिलखिलाना ,वो मुस्कुराना तुम्हारा वो बातें, वो रातें ,वो मुलाक़ाते तुमसे मेरी 

याद है मुझे वो पहली मुलाकात, जैसे हो बरसात की कोई रात, वो तेरा धीरे से मुस्कुराना, मुझे देख के यूँ नज़रें चुराना, 

तू साथ मेरे है,तू पास मेरे है, जानता हू मैं ये दिन सुनहरे हैं. इस दिल की खातिर तू पास है मेरे, जाने क्या क्या इस दिल में,अरमान तेरे हैं. 

राज़ दिल का दिल में छुपाते है वो, सामने आते ही नज़र झुकाते है वो, बात करते नही, या होती नही, पर शूकर है जब भी मिलते है मुस्कुराते है वो. 

मीठी सी हवा लगी अभी अभी क्या आप ने याद किया आप को देखने को दिल तरसे कभी कभी फिर भी यूँ लगे आप हमे मिल कर गये अभी अभी   

जब ख़याल आया तो खयाल भी उनका आया जब आँखे बंद की ख्वाब भी उनका आया , सोचा याद कर लू किसी और को मगर होठ खुले तो नाम भी उनका आया.. !! 

क्या ये असर मोहब्बत का है, या कुछ और है आजकल, तुम भी कुछ कुछ मेरी तरहा सोचते होगे जानता हूँ की ये पागलपन है मेरा, ये सोचना की पढ़ के इसे इस पल तुम मुस्कुरा रहे होगे… 

तुम्हे देख कर ये निगाह झुक जाए गी खामोशी अब हर बात कह जाए गी पढ़ लेना इन आँखों में अपनी मुहब्बत को तेरी कसम सारी कायनात वहीं रुक जाए गी   

कुछ ख़याल ऐसे ही मेरे दिल मे आते जाते हैं कुछ उनकी यादों मे डूबके हम मुस्कुराते हैं l कभी खो जाते हैं हम उनकी तस्वीर मे और कभी उन्ही के नाम से खुशी के गीत गाते हैं l 

बागों मे बहार फूलों से ही आती है फूलों मे मिठास सहेद से ही आती है पर आती है खुशबू तब ही जब उसे महसूस करने की चाहत होती है 

मेरे ख्वाबो का यार ऐसा मिला, की ज़िंदगी से ना रहा कोई भी गीला, मोहब्बत का एक फरिश्ता ऐसा मिला खुदा तो नही पर खुदा सा मिला 

बनके कोई ख्वाब मैं तुम्हारे आँखों मे आता जाता हूँ, होके तुम्हारे आँखों से दिल से गुज़र जाता हूँ, तुम समझ पाती नही की कौन था,कहाँ से आया था, बस ख्वाबों मे तुम्हारे आके तुम्हे गुदगुदा के जाता हूँ. 

पहली बारिश का नशा ही कुछ अलग होता हैं, पलको को छूटे ही सीधा दिल पे असर होता हैं, महका महका सावन आज इस दिल को बहका रहा हैं, गुमसूँ सी नज़रो को आज ये प्यार करना सीखा रहा हैं. 

आप मुझसे अब दूर कहाँ जाएँगे, हर धड़कन मे दिल की आप मुझे पाएँगे, सोचेंगे जब भी हमारे बारे मे, हमे खुद के करीब पाएँगे, ख्याल छुएँगे जब भी हमारे आपको तन्हैईओं मे, आप अपने लबो को मुस्कुराता पाएगे  

मेरी धड़कनो मे छुपी एक आवाज़ है, तेरे लिए हर एक नया गीत पर नया साज़ है, अब तो बस ये हाल है,जब भी सोचा तेरा ख्याल है, जब भी देखता हूँ आईना नज़र आता तेरा अंदाज है. 

तुझसे एक वादा था मेरा सदा मुस्कराता रहूँगा मैं इसलिए दिल तो मेरा रो रा है पर चेहरा सदा मुस्कराया है कभी आकर देख मेरा आशियाना कैसे तेरी यादों से सजाया है तेरे संग बिताए हर पल हर लम्हे को कैसे मैने सजाया है       

मेरे होठों की हसी मेरी कहानी तू है लबों पे जो रह गई प्रेम निशानी तू है 

औरों की तरेह वो बक बक नहीं करती अखियों से बहुत कुछ कह जाती है जब भी याद आ जाए उसकी कभी, हमे जानते हैं दिल को कैसे समझते है, 

बेक़रार दिल इस तरहा मिले जिस तरहा कभी हम जुदा न थे तुम भी खो गये, हम भी खो गये एक राह पर चलके दो क़दम वक़्त ने किया   

उपर आसमान से टूटा तारा, उससे देखकर मैने रब को पुकारा रखे वो सलामत आपको हमेशा, टूटे ना कभी ये प्यारा रिश्ता हमारा    

देखा है मैने भी कई खूबसूरत चेहरा. उन चेहरो मे कुछ खास लगता है एक चेहरा. कभी कुछ जाना पहचाना सा, कभी यू ही अनजाना सा लगता है वो चेहरा. 

मैने होठो से कुछ भी कहा नही और, तुम्हे लगा के मैने कभी प्यार किया ही नही. मैने हमेशा तुम्हारी खुशी चाही पर, तुमने तो मुझे कभी समझा ही नही.       

याद तो होगा तुझे भी, वो हसीन से लम्हे तेरे मेरे साथ के जब घंटों हम एक दूसरे का हाथ थमाके बातों में खोए रहते थे जब वक़्त का पता ही नही चलता था कैसे गुज़र जाया करता था डूबे रहते थे हम, गम से रहते थे हम एक दूजे की आँखों में… 

कितनी हसरत से तकती मेरी आँखें तुझको क्या कहूँ तुझसे कितनी प्यारी लगती है मुझको दीवाना बनाया है तेरी अदाओ ने सनम 

ना जाने दिल को क्या हुआ है यह किसी की ना सुनता है सिवा तुम्हारे यह बात किसी की मान ता नही 

कोशिश होनी चाहिए, किसी को याद करने की लम्हा तो अपने आप मिल जाएगा , वक़्त होना चाहिए, किसी से मिलने का बहाना तो अपने आप मिल जाएगा . 

काश आपकी सूरत इतनी प्यारी ना होती, काश आपसे मुलाकात हमारी ना होती, सपनो में ही देख लेते हम आपको, तो आज मिलनी की इतनी बेकरारी ना होती 

हाल दिल का तुम्हे सुनते अगर तुम पास होते, अश्क तुम्हारे साथ बहते अगर तुम पास होते, चाँदी रात की उन हसीन मुलाक़ातो को, फिर से एक बार दोहराते अगर तुम पास होते . 

तुम्हे मैं जब भी देखता हूँ , मेरी निगाहे खामोश हो जाती हैं, लेकिन तेरी पलको के साए मैं आकर , तेरी इन्ही प्यारी झुलफो को देखति है   

बातों बातों में उलझाना कोई आपसे सीखे दिल को ऐसे बहलाना कोई आपसे सीखे कैसे तड़पते हैं चाहने वाले को अपने आधाओं से सितम करना कोई आपसे सीखे 

देख ली मैने भी खुदाई तुझे पाकर… तेरे संग ज़िंदगी का हर लम्हा अच्छा है 

हसरत है सिर्फ़ तुम्हे पाने की, और कोई ख्वाईश   नही इस दीवाने की, शिकवा मुझे तुमसे नही खुदा से है, क्या ज़रूरत थी तुम्हे इतना खूबसरत बनाने की 

जब तुझे पहली बार देखा था, वो भी था मौसम ए तरब कोई, याद आती है दूर की बातें, प्यार से देखता है जब कोई,     

रब ने जो रिश्ता आसमान पर लिखा है उसे दुनिया मे निभाना है एक नाम तुम्हारा लिखना है एक नाम हमे बन जाना है 

गुलाब की महक भी फीकी लगती है, कौन सी खुश्बू मुज़मे बसा गयी हो तुम, ज़िंदगी है क्या तेरी चाहत के सिवा, यह कैसा खाव्ब आँखो को दिखा गयी हो तुम

उठाते है जब यह हाथ दुआ को, रब से तेरे लिए ही फरियाद करते है.. तुम हमें भुला भी दो तो क्या, हम तो तुम्हे हर पल याद करते है.. 

1 thought on “150+ Best Collection Of Romantic Shayari In Hindi For Lovers”

Leave a Comment