Dard Bhari Shayari Dard bhari Bewafa Shayari

0
105

Dard Bhari Shayari Dard bhari Bewafa Shayari

Heart touching dard shayari, dard sms and dard status are specially posted for sharing with friend, girlfriend, boyfriend or lover on facebook or whatsapp.
If you are seeking latest hindi dard shayari, new dard status, best painful shayari, dard shayari wallpaper, dard bhare fb status or dard sms than read our entire collection and feel the depth of words from heart.

 

Dard Bhari Bewafa Shayari – Sad Dard Bhari Shayari and Bewafa Shayari in Hindi.  

जख्म जब मेरे सीने के भर जाएंगे, आँसू भी मोती बन के बिखर जाएंगे, ये मत पूछना किसने दर्द दिया, वरना कुछ अपनों के चेहरे उतर जाएंगे.

गुलशन की बहारों पे सर-ए-शाम लिखा है,
फिर उस ने किताबों पे मेरा नाम लिखा है,
ये दर्द इसी तरह मेरी दुनिया में रहेगा,
कुछ सोच के उस ने मेरा अंजाम लिखा है।

खामोशियाँ कर देतीं बयान तो अलग बात है,
कुछ दर्द हैं जो लफ़्ज़ों में उतारे नहीं जाते।

अब तो हाथों से लकीरें भी मिटी जाती हैं,
उसे खोकर मेरे पास रहा कुछ भी नहीं।

कभी ग़म तो कभी तन्हाई मार गयी, कभी याद आ कर उनकी जुदाई मार गयी, बहुत टूट कर चाहा जिसको हमने, आखिर में उनकी ही बेवफाई मार गयी.

रोज़ पिलाता हूँ एक ज़हर का प्याला उसे,
एक दर्द जो दिल में है मरता ही नहीं है।

मेरे तो दर्द भी औरों के काम आते हैं,
मैं रो पडूँ तो कई लोग मुस्कराते है।

जाने-तन्हा पे गुजर जायें हजारो सदमें,
आँख में अश्क भी आयें ये जरूरी तो नहीं।

तकलीफ ये नहीं कि तुम्हें अज़ीज़ कोई और है,
दर्द तब हुआ जब हम नजरंदाज किए गए।

लिख-लिख कर मिटा दिए तेरी बेवफाई के गीत, किया करती थी तू भी वफ़ा एक ज़माने में।.

दिल के सारे अरमान ले जाते हैं, हमसे हमारी पहचान ले जाते हैं, ना करना किसी से मोहब्बत दोस्त, जान कहने वाले जान ले जाते हैं।.

वो जमाने में यूँ ही बेवफ़ा मशहूर हो गये दोस्त, हजारों चाहने वाले थे किस-किस से वफ़ा करते।.

बहुत ईमानदार हो गया है ये बेईमान शहर, दर्द की थैली से किसी ने सिक्का न उठाया।.

मैंने भी किसी से प्यार किया था उनकी रहो में इंतजार किया था हमें क्या पता वो भूल ज्यांगे हमें कसूर उनका नहीं मेरा ही था जो एक बेवफा से प्यार किया था.

ये बेवफा, वफा की कीमत क्या जाने ! ये बेवफा गम-ए-मोहब्बत क्या जाने ! जिन्हे मिलता है हर मोड पर नया हमसफर ! वो भला प्यार की कीमत क्या जाने !.

जिंदगी ने मेरे दर्द का क्या खूब इलाज सुझाया, वक्त को दवा बताया, ख्वाहिशों से परहेज बताया.

जो जले थे हमारे लिऐ, बुझ रहे हैं वो सारे दिये, कुछ अंधेरो ने की थी साजिशें, कुछ उजालों ने धोखे दिये..

सजा कैसी मिली मुझको तुमसे दिल लगाने की, रोना ही पड़ा है जब कोशिश की मुस्कुराने की, कौन बनेगा यहाँ मेरी दर्द-भरी रातों का हमराज, दर्द ही मिला जो तुमने कोशिश की आजमाने की।

 

तुम चाहे बेवफा ही सही अपर आज भी तुम्हारे दर्द से मुझे दर्द होता है

tum chahe bewafa hi sahi par aaj bhi tumhare dard se mujhe dard hota hai

कभी ये मत सोचना की याद नहीं करते हम तुम्हे रात की आखिरी और सुबह की सोचु हो तुम

kabhi ye mat sochna ki yaad nahi karte hum tumhe raat ki aakhiri aur subha ki paheli socu ho tum..

सच्चा प्यार करने वाले भी उन्हें ही मिलते है जिन्हें उसकी क़दर नहीं होती

भूल गया वो एक पल मैं मुहे जो कहता था एक पल भी मुस्खिल है तुम बिन जीना

कोई किसी का साथ नहीं देता लोग तो सिर्फ तब याद करते है जब वो खुद अकेले होते है

कुछ तो तरस खाओ मुझ पैर मुझे बस इतना दो तुम्हे अब भी मेरी ज़रोरत है या मैं अब बस तुम्हारी ज़रोरत हो

बहुत मजबूत होते है वो लोग जिनके पास खोने के लिए कुछ भी नहीं होता

सुनो जहा तुम नहीं होती हो वह मुस्कुराना भी अजीब लगता है

जो हमारी खुशियाँ चीन ले उसके पीछे रोने का कोई फायदा नहीं

ना रोते हम यु तेर लिए अगर हमारी ज़िन्दगी मैं भी तेरे सिवा कोई और होता

उसने मेरी हथेली पे अपनी नाज़ुक सी ऊँगली से लिखा मुझे प्यार है तुमसे…
न जाने कैसी स्याही थी की वो.. लफ्ज़ मिटे भी नहीं और आज तक दिखे भी नहीं….

जोड़कर रिश्ता मोहब्बत का किसी से,
उसे तन्हा अकेले छोड़ा नहीं जाता,
कांच से होते है यह दिल के रिश्ते,
इन दिल के रिश्तों को यु ही तोड़ा नहीं जाता.

आखरी बार तेरे प्यार को सजदा कर लू,
लौट के फिर तेरी महफ़िल में नही आऊंगा,
अपनी बर्बाद मोहब्बत का जनाज़ा लेकर,
तेरी दुनिया से बहुत दूर चला जाऊंगा.

मोहब्बत हाँथ में पहनी हुई चूड़ी के जैसी है,
संवारती है, खनकती है, खनक कर टूट जाती है……

मेरी चाहत ने उसे ख़ुशी दे दी,
बदले में उसने मुझे सिर्फ ख़ामोशी दे दी,
खुदा से दुआ मांगी मरने की,
लेकिन उसने बी तड़पने की लिए ज़िन्दगी दे दी…

Dard Bhari Shayari

मेरा हाल देखकर मोहब्बत भी शर्मिंदा है,
की वो शख्स सब कुछ कर गया फिर भी जिन्दा है…

सुना था कभी किसी से ,
ये मोहब्बत की दुनिया है ,
हमने भी दिल लगा के देखा तो ये जाना ,
मतलब की दुनिया है और ,ये तो जालिमों से भरा है !!

फूल शबनम में डूब जाते है,
जख्म मरहम में डूब जाते है,
जब आते है ख़त तेरे,
हम तेरे गम में डूब जाते है……

बाते तो बहुत करते हो,
इश्क-ओ-ख़ुलूस की तुम..!!
ज़रा अपने दिल में
तो देख लो में हु भी या नहीं….

आशिक़ मरते नहीं दफनाये जाते हैं,
ज़मीन खोद कर देखो जिंदा पाए जाते है,
कोई कहता इससे आग लगा दो,
कोई कहता इससे ज़मी पे गार दो,
मगर ज़ालिम ज़माना ये नहीं कहता की,
इससे अपने प्यार से मिला दो.

Dard Bhari Shayari For Facebook

गम न कर हम तेरी राह में नहीं आयेगे,
अगर आह भी गए तो तुझसे नज़रे नही मिलायेगे,
जब होगा तुझे अपनी गलती का एहसास,
तब तक हम किसी और के हो जायेंगे……

आज भी बहता हा उसका दिया हुआ ज़ख़्म,
मियन चाह कर भी उसे सह न पाया,
बस कहने के लिए जिंदा हु मैं तो यारो,
पर मर्ज़ी के साथ कभी जी न पाया….!!!

दर्द बन के दिल में छुपा कौन है,
रह रह कर इसमें चुबता कौन है,
एक तरफ दिल है और एक तरफ आइना,
देखना है इस बार पहले टूटता कौन हो.

दर्द में इस दिल को तरपते देखा,
संन्य हर रिश्ते को बिखरते देखा,
कितने प्यार से सजाये खवाबो की दुनिया,
उसी आँखों से अपने उजरते देखा….!!!!

हर बात में आंसू बहाया नहीं करते,
दिल की बात हर किसी को बताया नहीं करते,
लोग मुट्ठी में नमक लेके घूमते है..
दिल के जख्म हर किसी को दिखाया नहीं करते…

Dard BHari Shayari For Whatsapp

किसी से न करेंगे प्यार इस तरह,
न झेलना पड़ेगा जख्म इस तरह.

अपना ख्याल रखा करो मेरे लिए,
बेशक़ सांसे तुम्हारी चलती है लेकिन तुम में जान तो हमारी बस्ती है.

जब सीना ग़म से भोजल हो और याद किसी की आती हो..
तब कमरे में बंद हो जाना और चुपके चुपके रो लेना….

तलाश कर मेरी कमी को अपने दिल में ए यार….
दर्द हो तो समझ लेना की मोहब्बत अब भी बाकी है……

समझाया था मैंने उसे की वो ही मेरी ज़िन्दगी है…
चला गया मुझे छोड़ के ये जानते हुए की वो ही मेरा सहारा था…

Dard Bhari Shayari For Girlfriend

मैं मर जाऊ तो मुझे जला देना,
उससे पहले मेरा दिल को निकाल लेना,
मुझे परवाह नहीं इस दिल की जल जाने की,
मुझे परवाह है इस दिल में रहने वाली की….

कल रात मेरी आँख से एक आंसू निकल आया,
मैंने उसे पूछा तू बहार क्यों आया,
तो उसने मुझे बताया की,
तुम्हारी आँखों में कोई इतना है समाया,
की चाहकर भी अपनी जगह न बना पाया…….

पानी से तस्वीर कहा बनती है,
ख्वाबों से तकदीर कहा बनती है,
किसी भी रिश्ते को सच्चे दिल से निभाना,
ये जिंदगी फिर वापस कहा मिलाती है….

और इसलिए कहते है, कोई टूटे तो उसे सजाना सीखो,
कोई रूठे तो उसे मानना सीखो, रिश्ते तो मिलते है मुकदर से,
बस उन्हें खूबसूरती से निभाना सीखो…

दुनिया ने हम पे जब कोई इल्जाम रख दिया,
हमने मुकाबिल उसके तेरा नाम रख दिया,
इक ख़ास हद पे आ गई जब तेरी बेरुखी,
नाम उसका हमने गर्दिशे-अय्याम रख दिया….

Dard Bhari Shayari For Boyfriend

बहुत चाहा उसको जिसे हम पा न सके,
ख्यालों में किसी और को हम ला न सके,
उसको देखकर आँसू तो पोंछ लिए,
लेकिन किसी और को देखकर हम मुस्कुरा न सके…

हमने भी किसी से प्यार किया था,
हाथो मे फूल लेकर इंतेज़ार किया था,
भूल उनकी नही भूल तो हमारी थी,
क्यों की उन्हो ने नही, हमने उनसे प्यार किया था..!!

ए खुदा किया चीज़ मोहब्बत तू ने बनाई है,
किसी को यह मिल जाती है और कोई सहता उम्र भर की तन्हाई है,
साथ चानले के खवाब देखते हैं जो लोग मोहब्बत मैं,
कोई पा लेता है अपनी मंजिल को और कोई सहता उम्र भर की जुदाई है….

बेख़ुदी ले गयी कहाँ हम को,
देर से इंतज़ार है अपना,
रोते फिरते है सारी सारी रात,
अब येही रोज़गार है अपना…

खामोश जुबां पर तल्खी आही जाती है,
दर्द अपनों ने दिया हो तो यह बातें आह ही जाती है….

ल्फत का अक्सर यही दस्तूर होता है,
जिसे चाहो वही अपने से दूर होता है,
दिल टूटकर बिखरता है इस कदर,
जैसे कोई कांच का खिलौना चूर-चूर होता है….!

हर किसी की नसीब में कहाँ लिखी हैं चाहतें…
कुछ लोग दुनिया में आते है तन्हाईयों की लिए…

मोहब्बत कि ज़ंज़ीर से डर लगता हे,
कुछ अपनी तफलीक से डर लगता हे.
जो मुझे तुजसे जुदा करते हे,
हाथ कि वो लकीरो से डर लगता हे.

पत्थरों से प्यार किया नादान थे हम,
गलती हुई क्योकि इंसान थे हम,
आज जिन्हें नज़रें मिलाने में तकलीफ होती हैं,
कभी उसी सक्श की जान थे हम.

Dard Bhari Shayari For Best Friends

हमे तो इलज़ाम कुछ ऐसा मिला,
दोस्तों के हांथो हमे ये नाम मिला,
करू गिला में किस्से जब अपना ही नसीब ख़राब मिला,
हम तो ऐसे बदनाम हुए ज़माने में,
की बरसो लग जायेगे हमे आपको भुलाने में…

दर्द से दोस्ती हो गई यारों,
जिंदगी बे दर्द हो गई यारों,
क्या हुआ जो जल गया आशियाना हमारा,
दूर तक रोशनी तो हो गई यारो…

प्यास दिल की बुझाने वो कभी आया भी नहीं,
कैसा बादल है जिसका कोई साया भी नहीं,
बेरुखी इससे बड़ी और भला क्या होगी,
एक मुद्दत से हमें उसने सताया भी नही….

टूटे हुए काँच की तरह
चकना-चूर हो गया हूँ
किसी को चुभ न जाऊँ
इसलिए सबसे दूर हो गया हूँ….

दुश्मन भी मेरे मुरीद हैं शायद,
वक़्त बेवक्त मेरा नाम लिया करते हैं,
मेरी गली से गुज़रते हैं छुपा के खंजर,
रु-ब-रु होने पर सलाम किया करते हैं……

Tute Dil ki Shayari

मासूमियत का कुछ ऐसा अंदाज़ था मेरे सनम का,
उसे तस्वीर में भी देखूं तो पलकें झुका लेती थी,

तेरे हाथ से मेरे होंट तक वोही इंतजार की पियास है,
मेरे नाम की जो शराब थी कहीं रस्ते में छलक गई…

न पीछे मुर्र के देखो, न आवाज़ दो मुझको,
बरी मुश्किल से सीखा है मैने अलविदा कहना…

उसकी आंखें झील सी गहरी तो हैं,
उन आँखों मैं लेकिन तेरे लिए कोई बात नहीं….

इश्क की चोट अजीब संग शिकन होती है जाना,
इश्क की दर्द से ही कई यादे अब पुराने निकले,

वक्त के साथ कई दर्द मेरी जान अब पुराने निकले,
कुछ गम ऐसे थे मेरी जान जो तेरे बहाने निकले,

Dard Bhari Shayari Dhoka

मोहब्बत भी क्या चीज़ होती है,
जीत में भी अजीब हार होती है,
अपनों पे किया था भरोसा,
गैरों ने दिया दिलासा,
अपनों से ही खाया है जख्म,
गैरों ने लगाया मरहम,
ये प्यार मोअब्बत ये क्या चीज़ है,
इससे अच्छी तो हमारी ज़िन्दगी की हार है….

इस दिल की दास्ताँ भी बड़ी अजीब होती है,
बड़ी मुस्किल से इसे ख़ुशी नसीब होती है,
किसी के पास आने पर ख़ुशी हो न हो,
पर दूर जाने पर बड़ी तकलीफ होती है..!

उनसे दूर जाने का इरादा ना था,
सदा साथ रहने का वादा भी ना था,
वो याद नहीं करेगा जानते थे हम,
पर इतनी जल्दी भूल जायेगा अंदाज़ा न था….

वो जाते जाते अपनी आहट गए,
इन सोयी आखों में अपना सपना दे गए,
रहत मिलती थी उनके आने से,
फिर भी वो तनहा कर गए…..

बैठे बैठे ग़म में गिरफ्तार हो गया,
नशा नशीन था हो गया,
दो गज़ ज़मीन मिल ही गयी मुझ गरीब को,
मरने के बाद में भी ज़मींदार हो गया….

Dard Bhari Shayari Aansoo Hindi me

कोई आँखों आँखों में बात कर लेता है,
कोई आँखों आँखों में इकरार कर लेता है,
बड़ा मुश्किल होता है जवाब दे पाना,
जब कोई खामोश रहकर भी सवाल कर लेता है !!!!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here