Bollywood Movie Shayari in Hindi | फिल्मों के बेहतरीन शायरी

0
128

Bollywood Movie Shayari in Hindi | फिल्मों के बेहतरीन शायरी

Bollywood Movie Shayari in Hindi | फिल्मों के बेहतरीन शायरी, Movies shayari, hindi shayari, filmi shayri in hindi, hindi filmi shayari, best bollywood shayari.

Bollywood Movie Shayari in Hindi

दिल से हमे भुलाओगे कैसे,
हम वो खुशबू हैं जो साँसों में बसते हैं,
ख़ुद की साँसों को रोक पाओगे कैसे

बैठी हैं होंठो को सीकर पछतायेंगी आप,
इश्क़ अक्सर जाग उठता है ऐसी ख़ामोशी के बाद.

Bollywood Shayari in Hindi

नसीब अच्छे न हूँ तो खूबसूरती का किया फ़ायदा
दिलों के सहेन्सा अक्सर फकीर हुआ करते हैं

ता उम्र बस एक सबक याद रखिये
रिश्ते और इबादत में नियत साफ़ रखिये

Hindi Movie Shayari in Hindi

बेख़ुदी की जिन्दगी हम जिया नही करते,
जाम दूसरों के हाथों से छीनकर पिया नही करते,
उनको मोहब्बत हैं तो आकर इजहार करें,
पीछा हम भी किसी का किया नही करते.

तेरे दिल में मेरी साँसों को पनाह मिल जाए,
तेरे इश्क़ में मेरी जान फ़ना हो जाए…

हकीकत में दर्द वो है जो दूसरों के दर्द देख कर मिले
वरना अपना दर्द तो जानवर को भी महेसूस होता है

मुझे से अब और तमाशा नहीं हो सकता
ले जा ये दिखावे की मुहब्बत और हसी

Best Bollywood Movie Shayari in Hindi

ऐ ख़ुदा आज ये फ़ैसला कर दें,
उसे मेरा या मुझे उसका कर दें,
बहुत दुःख सहे है मैंने,
कोई ख़ुशी अब तो मुकरर कर दें,
बहुत मुश्किल लगता है उससे दूर रहना,
जुदाई के सफ़र को कम कर दें,
जितना दूर चले गए वो मुझसे,
उसे उतना क़रीब कर दें,
नहीं लिखा अगर नसीब में उसका नाम,
तो खत्म कर ये जिंदगी और मुझे फ़ना कर दें…

Best Movie Shayari in Hindi

ना जागते हुए ख्वाब देखा करों
ना चाहों उससे जिसे पा न सकों
प्यार कहाँ किसी का पूरा होता हैं,
प्यार का पहला अक्षर अधूरा होता हैं….

दीवाने है आपके इस बात से इंकार नहीं,
कैसे कहें कि हमें आपसे प्यार नही,
कुछ तोह कसूर है आपकी अदाओं का
अकेले हम ही गुनेहगार नहीं……

Top Bollywood Movie Shayari in Hindi

बस अब एक हाँ के इंतज़ार में रात यूँही गुज़र जायेगी,
अब तोह बस उलझन है साथ मेरे नींद कहाँ आएगी,
सुबह की किरण न जाने कौनसा सन्देश लाएगी,
रिमझिम इस गुंगुनायेगी या प्यास अधूरी रह जायेगी

तेरी आँखों की नमकीन मस्तियाँ तेरी
हँसी की बे परवाह गुस्ताखियाँ
तेरी जुल्फों की लहराती अंगड़ाइयाँ
नहीं भूलूंगा मैं
जब तक है जान, जब तक है जान

Bollywood Movie Shayari

गर्मीए हज़रत के नकाम से जलते है
हम चिरागों की तरह शाम से जलते है…
जब आता है तेरा नाम मेरे नाम के साथ
ना जाने क्यों लोग हमारे नाम से जलते है

एक पल में जो गुजर जाए
यह हवा का एक झोंका है
और कुछ नहीं
प्यार कहती है दुनिया जिसे
एक रंगीन धोका है
और कुछ नहीं

Indian Bollywood Movie Shayari in Hindi

आपने हिस्से की ज़िन्दगी तो हम कब के जी सके
अब तो हम धडकनों का लिहाज़ करते हैं
क्या करे इस दुनिया वालों का
जो हमारी धडकनों पे भी ऐतराज करते हैं

दूर हमसे जा पाओगे कैसे,
हमको भूल पाओगे कैसे.
हम वो खुशबु हैं जो साँसों में उतर जाये,
खुद अपनी सांसों को रोक पाओगे कैसे…..

 

 Tujhe naraz nahi zindagi, hairaan hoon main, hairaan hoon main…
Tere masoom sawalo se, pareshaan hoon main, pareshaan hoon main…

Tujhse Naraz Nahi Zindagi (Masoom)

 Lab tere kyun khule jaise harf the…
Honth par yun ghule jaise barf the…
Tu hi tu hai, main kahin nahi….
Khul kabhi tu, khul kabhi nahi….

Khul Kabhi (Haider)

Fikr rehti hai jo khamakha nhi…
Zikr rehta hai magar khamakha nhi…
Ashq aankhon mein, bhar ke dekhna….
Aaina kabhi darr ke dekhna….
Ye bewajah, besabab, khamakha na….

Khamakha (Matru Ki Bijlee Ka Mandola)

Apko dekhke badi der se, meri saans ruki hai…
Bekaraan hai bekaraan, Aankhein bandh keeje naa….
Doobne lage hai hum, Saans lene deeje naa…..

Bekaraan (7 Khoon Maaf)

Bine tere raatein, kyun lambi lagti hain….
Kabhi tera gussa, teri baatein kyun achhi lagti hain…..

 Raanjha Raanjha (Raavan)

Tere jism ki aanch ko chhoote hi…
Mere saans sulagne lage…
Mujhe ishq dilaase deta hai……
Mere dard bilakhne lagte hain…..

Satrangi Re (Dil Se)

Kaanch ka sapna gal hi na jaye…..
Soch samajh ke aanch rakhna…
dheere jalna dheere jalna dheere jalna…

Dheere Jalna (Paheli)

kabhi ankhiyon se pina….
Kabhi honto se pina….
Kabhi achha lage marna….
Kabhi mushqil lage jeena……

Namak (Omkara)

Tum jab haste ho, din ho jata hai…
Tum jab gale lagte ho, din so jata hai…
Doli uthaye aayega din to, pass bitha lena….
Kal jo mile to, mathe mein mere, suraj uga dena….

Naam Ada Likhna (Yahaan)

Umarey lagi kehte huye …
Do lavz the, ek baat thi…
Wo ek din sau saal ka…
Sau saal ki wo raat thi…..

Bolna Na Halke Halke (Jhoom Barabar Jhoom)

Tu hoga zara pagal…
Tu ne mujhko hai chuna…
Kaise tune ankaha…
Tu ne ankaha sab suna…

Moh Moh Ke Dhage (Dum Laga Ke Haishaa)

Fasle jo kati jayen,
Ugti nahin hai…
Betiyan jo byahi jayen,
Mudti nahin hai…

Dilbaro (Raazi)

Tu hi meri manzil hai, pehchaan tujhi se…
Pahunchu main jahan bhi, meri buniyad rahe tu…

Ae Watan (Raazi)

Kisko pata tha, pehlu mein rakha…
Dil aisa paaji bhi hoga….
Hum to hamesha samajhte the koi..
Hum jaisa haaji hi hoga…..

Dil Toh Bachcha Hai Ji (Ishqiya)

Takiye chaadar mehake rehte hain…
Jo tum gaye,
Tumhari khushboo soongha karenge hum…

Yaaram (Ek Thi Daayan)

Basakar dilon ko mitati hai dunia … hasaker hamesha rulati hay dunia

Apne hise ki zindagi to hum ji chuke Chunni babu, ab to bus dhadkano ka lihaz karte hai … kya kahen ye duniya walo ko jo, aakhri saans par bhi aitraaz karte hai…..

Haseena Parkar

लोगो ने इज़्ज़त बख़्शी मैंने क़ुबूल की

मुझे इस बात का अफ़सोस नहीं है

की मैं तुझे नहीं जानती …

इस बात का अफ़सोस है

की तू मुझे नहीं जानती

छोटे कामों में धमकाने के लिए

मैं कोई गली का गुंडा नहीं थी …

पर मेरे घरवालों को कोई चोट पहुंचाए

तो ख़ामोशी सहने के लिए

मैं कोई संत भी नहीं थी

Once upon a time in mumbai

हमारी तसवीरें खींच के

अपनी दूकान में लगा लेना …

कभी ज़रुरत पड़े,

तो दोनों में से एक भगवन चुन लेना

मैं उन चीज़ों की स्मगलिंग करता हूँ,

जिनकी इजाज़त सरकार नहीं देती …

उन चीज़ों की नहीं,

जिनकी इजाज़त ज़मीर नहीं देता

रास्ते की परवाह करूंगा तो …

मंज़िल बुरा मान जायेगी

आदमी तभी बड़ा बनता है …

जब बड़े लोग उससे मिलने का इंतज़ार करे

दुआ में याद रखना

मुश्किल तो यह है कि

मैं अभी ठीक तरह से बिगड़ा भी नहीं …

और तुमने सुधारना शुरू कर दिया

चौकियां चाहे पुलिस की हो …

शहर के कमिश्नर तो हम ही लोग है

जो अपनी माँ की इज़्ज़त नहीं करते …

मैं उनका बाप बनकर आता हूँ

ज़िन्दगी हो तो स्मगलर जैसी …

सारी दुनिया राख की तरह नीचे

और खुद धुंए के तरह ऊपर

Ghajani

बस अब एक हाँ के इंतज़ार में रात यूँही गुज़र जायेगी,
अब तोह बस उलझन है साथ मेरे नींद कहाँ आएगी,
सुबह की किरण न जाने कौनसा सन्देश लाएगी,
रिमझिम इस गुंगुनायेगी या प्यास अधूरी रह जायेगी

Sharaabi

आज उतनी भी नहीं मेह्खाने में ,
जितनी हम छोड़ दिया करते थे पैमाने में…..

Jab tak Hai Jaan

तेरी आँखों की नमकीन मस्तियाँ तेरी
हँसी की बे परवाह गुस्ताखियाँ
तेरी जुल्फों की लहराती अंगड़ाइयाँ
नहीं भूलूंगा मैं
जब तक है जान, जब तक है जान

तेरा हाथ से हाथ छोड़ना तेरा
सायों का रुख मोड़ना
तेरा पलट के फिर न देखना
नहीं माफ़ करूँगा मैं,
जब तक है जान, जब तक है जान

बारिशों में बेधड़क तेरे नाचने से
बात बात पे तेरे बेवजह रुठने से
छोटी छोटी तेरी बचकानी बदमाशियों से
मोहब्बत करूँगा मैं
जब तक है जान, जब तक है जान

तेरे झूठे कसमें वादों से ,तेरे
जलते सुलगते खावो से
तेरी बेरहम दुआओं से
नफरत करूँगा मैं
जब तक है जान, जब तक है जान

Raaz

गर्मीए हज़रत के नकाम से जलते है
हम चिरागों की तरह शाम से जलते है…
जब आता है तेरा नाम मेरे नाम के साथ
ना जाने क्यों लोग हमारे नाम से जलते है

Heer Ranjha

उससे कहना कि तुम मेरा एक ख्वाब हो,

जो चमकता है दिल में वो माहताब हो …

उससे कहना के गेहुओं के खेतों का रंग,

तिलमिलाती हुई तितलियों की उमंग…

उससे कहना के झरनों का चंचल शबाब,

घाट की ताज़गी, आबरू-ऐ-जनाब …

उससे कहना के झूलों की अंगड़ाइयां

और उड़ते दुपट्टों की श्रेणियां …

उससे कहना कि चक्की के गीतों की आग,

लड़खड़ाती जवानी, मचलता सुहाग …

उससे कहना के दुलहनों के काजल की प्यास,

पहले भूसे की गर्म और ठंडी मिठास …

इतनी रंगीनियों को जब इखजा किया,

हीर कुदरत ने तब तुझको पैदा किया

क्या मिलेगा भला रुलाके मुझे …

पाओगे क्या जला जलाके मुझे

यूँ तो दुनिया ने भी तीर मारे बहुत …

याद आयेंगे एहसान तुम्हारे बहुत

कुचल दूँगा, मसल दूंगा,

जला दूंगा, लुटा दूँगा …

रुलाया मुझको किस्मत ने …

मैं दुनिया को रूला दूँगा

छेड़के दिल के टूटे तारों को,

अब तुम उसकी सदा से डरते हो …

खुद ही तूफ़ान उठाये है तुमने,

और खुद ही हवा से डरते हो

Diljale

एक पल में जो गुजर जाए
यह हवा का एक झोंका है ……
और कुछ नहीं
प्यार कहती है दुनिया जिसे
एक रंगीन धोका है ……
और कुछ नहीं

आरज़ू झूठ है
आरज़ू का फरेब खाना नहीं
खुश जो रहना हो
ज़िन्दगी में तुम्हे
दिल कभी किसी से लगाना नहीं

क्यों बनाती हो रेत के महल
जिसे खुद ही तोड़ डालोगी तुम
आज तो कहती हो
इस दिलजले से प्यार है तुम्हे
कल को मेरा नाम तक भूल जाओगी तुम

Devdas

आपने हिस्से की ज़िन्दगी तो हम कब के जी सके
अब तो हम धडकनों का लिहाज़ करते हैं
क्या करे इस दुनिया वालों का
जो हमारी धडकनों पे भी ऐतराज करते हैं

bollywood shayari hindi me

दिल के छालों को

कोई शायरी कहे तो दर्द नहीं होता

तकलीफ तो तब होती है

जब लोग वाह वाह करते हैं

Sarfarosh

अपनी आँखों के समंदर में

डूब जाने दे

तेरा मुजरिम हूँ

मुझे डूब के मर जाने दे

bollywood shayari hindi me

Fanaa

दूर हमसे जा पाओगे कैसे,
हमको भूल पाओगे कैसे.
हम वो खुशबु हैं जो साँसों में उतर जाये,
खुद अपनी सांसों को रोक पाओगे कैसे..

बेखुदी की ज़िंदगी

हम जिया नहीं करते,

यूँ किसीका का जाम

हम पिया नही करते.

उनसे केह दो

मोहब्बत का इज़हार आकर खुद करें,

यूँ किसी का पीछा हम किया नहीं करते

bollywood Shayari hindi me

रोने दे तू आज हमको, तू आँखे सुजाने दे

बाहों में ले ले और, खुद को भीग जाने दे

है जो सीने में कैद दरिया, वो छूट जायेगा

है इतना दर्द की, तेरा दामन भीग जायेगा…

तेरे दिल में

मेरी साँसों को पनाह मिल जाये

तेरे इश्क़ में

मेरी जान फ़ना हो जाये…

Teri meri kahani

आप हमे भूल जाओ

हमें कोई गम नहीं,

आप हमे भूल जाओ

हमें कोई गम नहीं,

जिस दिन हमने

आपको भुला दिया,

समझ लीजिएगा,

इस दुनिया में हम नहीं…..

Bollywood shayari -2016

न सिर्फ एक शब्द नहीं,
अपने आप में पूरा वाक्य है।।
इसे किसी भी तरह के स्पष्टीकरण की
आवश्यकता नहीं है।।
न का मतलब सिर्फ न होता है।।
पिंक

म्हारी छोरियां छोरों से कम हैं के।।
दंगल

एक तरफा प्यार की ताकत ही
कुछ और होती है,
और रिश्तों की तरह ये दो लोगों में नही बंटती,
इसमे सिर्फ मेरा हक है।।
ऐ दिल है मुश्किल

हमारें यहां घड़ी की सुई करैक्टर
Decide करती है।।
पिंक

मतलब तो बाजी जीतने से है,
फिर चाहे प्यादा कुरबान हो या रानी।।
रुस्तम

तू मेरी steady गर्लफ्रैंड है, नहीं ना ।
वो मेरी exclusive माँ है।।
रमन राघव

हम अपने लिए जी नहीं पा रहे,
और यहां लोग दूसरों के लिए मरने को तैयार हैं।।
अन्ना

अपाहिज वो नहीं, जिसका कोई अंग न हो…
अपाहिज वो है ,
जो अपने अंग का इस्तेमाल न करे।
दूसरों की मदद न करने वाले हाँथ अपाहिज हैं,
जुल्म को देखकर मुड़ने वाली आँख अपाहिज है…
माँ बाप को छोड़कर भागने वाले पाँव अपाहिज हैं।।
अकीरा

अब बारी थी, एक ऐसी फ़िल्म की
जिसका इंतजार लोगों को कब से था।
कट्टप्पा ने बाहुबली को क्यों मारा?
ये सवाल शायद दशक के सबसे बड़ा
सवाल बन गया था।

Bollywood shayari

देवसेना को किसी ने हाँथ लगाया,
तो समझो बाहुबली की तलवार को हाँथ लगाया।।
बाहुबली द कॉनक्लूज़न

जब तक तुम मेरे साथ हो ,
मुझे मारने वाला पैदा नहीं हुआ मामा ।।
बाहुबली द कॉनक्लूज़न

जो प्राण देता है, वो भगवान है।
जो प्राण की रक्षा करता है वो वैद्य,
और जो प्राण बचाये वो ईश्वर।।
बाहुबली द कॉनक्लूज़न

समय हर कायर को सूरवीर बनने का
अवसर देता है,ये क्षण वही है।।
बाहुबली द कॉनक्लूज़न

अपने हाथों को हथियार बना लो,
अपनी सांसो को आंधियों में बदल दो,
हमारा रक्त ही महासेना है।।
बाहुबली द कॉनक्लूज़न

Bollywood shayari

औरत पर हाँथ डालने वाले की
उँगलियाँ नही काटते ,काटते हैं उसका गला।।
बाहुबली द कॉनक्लूज़न

आशिकों ने तो आशिकी के लिए
ताजमहल बना दिये,
हम साल एक संडाज नहीं बना सके।।
टॉयलेट एक प्रेमकथा

अस्पताल में पड़े मरीज को और
प्यार में पड़े आशिक को
कभी अकेला नही छोड़ना चाहिए ।।
टॉयलेट एक प्रेमकथा

बॉलीवुड में शायरी का चलन भी बहुत रहा है,
अक्षय कुमार की इस मूवी में शायरी भी
खूब रहीं
गीता में श्रीकृष्ण ने बात कही गंभीर ,
औरों से दुनिया लड़े, लड़े स्वयं से वीर।।
टॉयलेट एक प्रेमकथा

किस किस को दुख मनाये,
किस किस को रोइये।
कन्हैया जी की चादर में मुँह ढककर सोइये।।

Bollywood Movie Shayari in Hindi | फिल्मों के बेहतरीन शायरी

Bollywood Movie Shayari in Hindi | फिल्मों के बेहतरीन शायरी, Movies shayari, hindi shayari, filmi shayri in hindi, hindi filmi shayari, best bollywood shayari.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here